Whatsapp Par Delete Data Kar Payege Recover

WhatsApp पर अब डिलीट हो जाने वाले डाटा को ही कम किया जा सकता है कई बार ऐसा नहीं होता है कि गलती से फोटो वीडियो सिया फल्म मैसेज डिलीट हो जाते लेकिन आने वाले दिनों में डिलीट हुए मीडिया फाइल को रिकॉर्ड करना आसान हो जाएगा-


डिलीट डाटा की रिकवरी

WhatsApp अब यूजर्स को डिलीट हुए मीडिया को सर्वर से दोबारा डाउनलोड करने की अनुमति देगा ऐसा पहली बार नहीं जब WhatsApp यह फीचर लेकर आया हूं इसका एक बार पहले से ऐप में उपलब्ध कराया हुआ है अगर अपने मीडिया फाइल डाउनलोड नहीं किया तब भी 30 दिनों तक WhatsApp पर उपलब्ध रहती है फाइल डाउनलोड करने के बाद फाइल अपने आप WhatsApp सर्वर से डिलीट हो जाती है।

     •WhatsApp पर अब करें ऑटो रिप्लाई
     • WhatsApp से केसे करें पैसे ट्रांसफर
     • यह नया WhatsApp अपडेट बना दे आपके जीवन को आसान जाने

नई अपडेट में बदनाम


इस नई अपडेट के बाद WhatsApp के काम करने के तरीके में भी बदलाव आएगा अब तक फाइल्स डाउनलोड होने के बाद सर्वर से डिलीट हो जाती थी अब WhatsApp इन पॉइंट्स को डिलीट नहीं करेगा इससे यूज़र फाइल डिलीट होने के बाद भी उन्हें दोबारा डाउनलोड कर पाएंगे क्योंकि वह सर्वर पर उपलब्ध होंगे रिपोर्ट्स के अनुसार टेस्टिंग के दौरान 2 महीने पुरानी फाइल्स को भी सफलतापूर्वक डाउनलोड किया गया फाइल्स को सर्वर पर स्टार्ट रखने के बावजूद ऐप डाकू रखता है मीडिया फाइल्स एंड-टू- एंड  एक्रिप्टेड रहती है।

फाइल्स हो जाएगी अपने आप Delete.

अक्सर यह देखा गया है कि डाउनलोड फोल्डर पर यूजर का बहुत ज्यादा ध्यान नहीं जाता है। ऐसे में डाउनलोड होने वाली फाइल यहां एकत्रित होती रहती हैं। अगर आपने विंडोज 10 को क्लीन रखना चाहते हैं, तो कुछ ऐसे टुल्स है जिनकी मदद से डाउनलोड फोल्डर में एकत्रित होने वाली फाइल ऑटोमेटिकली डिलीट हो जाएंगी:

• पहले सेटिंग> सिस्टम> स्टोरेज में जाएं।

• यहां आपको 'स्टोरेज सेंस' का टैब दिखाई देगा, जिसे ऑन कर दें। अगर आपके डिस्क में स्पेस कम है तो यह 30 दिन पुरानी फाइलों को ऑटोमेटिकली डिलीट कर देता है।

• यहां पर 'चेंज हाउ वी फ अप स्पेस' पर क्लिक करें।

• यहां पर टेंप्रेरी फाइलों को भी डिलीट कर सकते हैं। इसके लिए यहां दिए गए बॉक्स को चेक करना होगा। यहां पर 30 दिन के बाद की सभी पुरानी फाइलें डिलीट हो जाएंगी यानी जिन फाइलों का अप इस्तेमाल नहीं करते वह डिलीट हो जाएंगे।

अब आप भी इस सेटिंग को ऑन करके अपने विंडोज 10 नहीं मैं पुरानी फाइलों को खुद से डिलीट करने के लिए चालू कर सकते हैं इससे आपके विंडो टेन में फालतू का डाटा नहीं बचेगा जिससे आपकी drive साफ रहेगी।

iPhone Battery Health: इसे अपने आप कैसे जांचें

अगर फोन की बैटरी की स्थिति सही ना हो तो इसका असर फोन के परफॉर्मेंस पर भी होता है। एप्पल ने आईओएस 11.3 मैं एक फीचर दिया है, जिसकी मदद से डिवाइस की बैटरी हेल्थ को जाना जा सकता है। अगर बैटरी की स्थिति अच्छी नहीं है तो फिर सर्विस के बाद डिवाइस के परफॉर्मेंस को फिर से हासिल किया जा सकता है। आइए जानते हैं कि कैसे जान सकते हैं आईफोन बैटरी की स्थिति....


• सबसे पहले iPhone डिवाइस को IOS 11.3 वर्जन से अपडेट करना होगा। इसके लिए सैटिंग >जर्नल >सॉफ्टवेयर अपडेट में जाना होगा। अगर आपके डिवाइस में पुराना वर्जन है, तो फिर 'डाउनलोड एंड इनस्टॉल' पर क्लिक कर इसे अपडेट कर लें।

• जब आपका फोन अपडेट हो जाता है, तो फिर सेटिंग्स>बैटरी में जाएं।


• यहां पर बैटरी हेल्थ वीटा पर क्लिक करें।

• अब यहां पर आपको दो ऑप्शन दिखाई देंगे 'मैक्सिमम कैपेसिटी' और 'पिक पर्फॉर्मेंस कैपेबिलिटी' इसमें पहला बैटरी हेल्थ की परसेंटेज फिगर को बताता है। अगर यह 94% है, तो इसका मतलब है कि आपका आईओएस डिवाइस की अधिकतम बैटरी कैपेसिटी 94 है,जबकी पीक परफॉर्मेंस कैपेबिलिटी में आपको 2 मैसेज दिखाई देंगे। आपकी बैटरी फिलहाल नॉर्मल पिक परफॉर्मेंस को सपोर्ट कर रही है या फिर दूसरा मैसेज यह होगा कि बैटरी जरूरी पिक पावर डिलीवर करने में सक्षम नहीं है, इसलिए इसमें शट-डाउन की समस्या देखी जा रही है।

और पढ़ें :-iPhone के स्मार्ट फीचर्स


• अगर फोन में इस तरह की समस्या दिखे तो फिर परफॉर्मेंस मैनेजमेंट को अप्लाई करें, जिससे इस तरह की समस्या को हल करने में मदद मिलेगी।


अब आप भी अपने iPhone को अपडेट कर अपने बैटरी की हेल्थ की जानकारी लें यदि आपके फोन में भी हो रही है बैटरी से संबंधित समस्या।

और पढ़ें :- अपने Android फोन का लॉक iPhone के लुक में कैसे बदलें

आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट कर जरूर बताएं और अपने मित्रों को इसे शेयर करना ना भूलें..

Facebook को अपना व्यक्तिगत डेटा साझा करने से कैसे रोकें |

Kya apko pta hai ki facebook par 1.3 billon ke karib Social media active users hai, India me  Mobile Par.
24.1 Crore Ke karib Active Users hai india me.America (24 crore) se jayda users hai india me.
50% se jayada Users india me 25 years se kam ke hai.
2 billion se adhik facebook users hai duniya bhar me.
27% Active users increase hue hai 2017 me
Source:- Facebook Potential Audians Report

India me bhadhte Facebook users ke ek kaarn yhe bhi hai ki jab se jio ka internet aya hai tab se 70% users net par active rhte hai jis wajye se facebook par 2017  me 27% Active users increase hue hai.

India me Facebook ke karib 24.1crore users hai or har chata byakti is platform ka dewanan hai, lekin data leek ke mamle se karan is platform ke fajehat hone lagi hai.

Jane kaise kare Faceook par apnae data ko secure...
Aaj sayad hi koi user hoga, jo facebook ke baare me nhi janta hoga. Yhe world ka sabse bada socail media platform hai. Asaan upyog aur bhetar features ke wajhe se log iske dewane hai aur har minute ispe update rhate hai, lekin haal me jis tarhe ki khabar ayi hai, bhe users ko paresan karne wali hai. Sabse bade Social media platform se Facebook se 5crore users ke data chori hone ki khabar ke baad duniya bhar me hal chal mach gyi hai.

Apnaye Ye Securities


Yadi aap facebook ka use kar rhe hai , to kuch securities ko apnana apke lye fyademand ho sakhta hai:

Read more:- Facebook Par Apne Mobile Number Publicly Hide Kaise Kare


Login With Facebook


Kai App aaj facebook par login maghte hai aur cambrige Analitica me bhi kuch esa hi kiya gya tha. Users Login with Facebook button ke madyam se asani se facebook me login kar lete hai, lekin unko
maloom nhi hai ki login se sath hi ye Apps apko sabhi unknown jankariyo ke list par le jate hai. Apka pura facebook data inke pass aa jata hai, islye kosis kare ke facebook account se kisi dusre apps ya phir website ko login na kare.

Apps Ke Kare Jaanch


Aap Facebook se realtive har baat ka dhyan nhi rakh sakhte hai. Aksar facebook par Game khalte hai or dusro ko invite karte hai, ese me isse realtive App apke facebook account me akar beath jate hai aur agar apne inka upyog nhi bhi kiya hai, to bhi apke private data ko excess karte rhate hai. Ese App aap ke facebook account me Intergrated Apps ko jarur jaanche. Jin par saakh ho, unhe Turant hta de. Iske lye Desktop Browser ya fhir App ki privacy checkup tool par jana hoga . Yhe option apko setting ke anadar milega.

Check Kare Apni Privacy


Aap Jo Post share karte hai, use kon dekh sakhta hai, kya apne kabhi iski jaanch ki hai? Facebook par kuch ese images hoti hai, jinhe aap apne friends ke beech tak seemet rakhna chahte hai ya koi esa topic, jisse dusro ko share nhi karna chahte hai.Achi baat yhe hai aap ye dono hi kar sakhte hai. Facebook ke settings me ye service phale se uplabd hai. App yhe select kar sakhte hai ki kon post ke sath hi apke profile ke niji jankariyo, jaise- Phone number, Email, Address etc dekhe.

Read More:- Facebook Data Ko Hack Hone Se Kaise Bachaye


Privacy Rakhe Hide


Kai log facebook me apni niji jankariyo ko public kar dete hai, jabki yhe shi nhi hai. Ho sakhe to Date of birth, Contact number aur apna Address etc ko hide rakhe, to jada bhetar hoga.

Storng Password Ka Istemaal


Haal me aye ek servey me kha gya tha ke jaydatar log apna password  1234 jaise number rakh lete hai, jo ki khatrnak hai. Islye yadi aap facebook ka Security use karna chahte hai, to strong password rakhna bhetar hoga.
Example: Facebook@987

Dual Security


Yadi apne facebook account ko jayda secure rakhna chahte hai, to dual securitiy ka istemaal kar sakhte hai. Jaab facebook login karne ke lye password dale ge, to apko ek editional code diya jayega.Yhe code Apko apke regester mobile number par prapt hoga. Isse apka account khai jayda secure
hoga.

Read more :- Facebook Fake Account Kaise Banaye


Login Alerts


Yadi aap chahte hai ki koi dusra apka facebook account login kare or apko suchna mil jaye, to ese me Login Alerts feature ko enable kar sakhte hai. Yhe 'Facebook Settings' me 'Securities' ke andar diya gya hai. Aap chahe to Notification Phone par le sakhte haiya phir E-mail par bhi receive kar sakhte hai.
Login Alerts ke andar Mobile aur E-mail Notification ka Option diya gya hai.


Aapko humari post kaise lagi comments kar apna feedback hume jarrur de. Or Ise Apne Friends Ke sath share kare.
  

How To Save Data From Hackers

The Facebook data leak case is no longer there. Firefox Browser has released an extension, which will now prevent you from tracking Facebook. The name of this new extension is Facebook Container. It keeps the user's data away from Facebook's tracking system. Apart from this, you can also do some more solutions to protect the data security from online spies.
Before you, Facebook has written a post to How To Save Facebook Data From Theft  . You can also read it.

Delete cookies



By blocking the third party cookies here, some types of tracking can be stopped, but not everyone. Do flash cookies or store super cookies and more information. Super cookies can also truck your activities on different browsers. In addition, these cookies may generate a red-generated third party response. You can delete freeware cleaners to delete such regular cookies, but some sites use third-party cookies to track users. So think before any site is repeatedly sign in.

Read More :-  How To Increase Aadhar Privacy

Do Trackers


Every site on the Internet is connected to tracking cookies. These are in many ways, such as aids, comment box, sponsored gender etc. These cookies are given by advertisements on separate ad networks. With this, the advertiser gets data, depending on which side of the click you click. Anti-Tracker Browser can prevent these cookies through plugins. As an entry tractor plugins, the electronic frontier foundation can use privacy, badgers, ghostery, disconnect etc.

Use of VPN



The user's browser is also tracked through an IP address. It can also be known about how many times a particular site visits with an IP address, with its surrounding location. To avoid these things, you can use Virtual Private Network (VPN). When you login through VPN, you get a separate IP address. You can try free VPNs like Cyber ​​Ghost, which supports Mank, PC, Android.


Read More:- Fake Number Se Whatsapp Kaise Banaye

You can be alert with online spies and secure your data with the help of these apps.

How do you like this post to tell us, so that we are eager to bring such a poster for you too .....

आघार कार्ड की कैसे बढ़ाएं प्राइवेसी

आधार की प्राइवेसी को लेकर लोगों की चिंताओं को देखते हुए यूआईडीएआई ने वर्चुअल आईडी (वीआइडी) का बीटा वर्जन जारी किया है यानि अब सत्यवान के लिए आधार नंबर की जगह वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल कर पाएंगे....

आजकल सभी तरह की सरकारी सुविधाओं के लिए आधार की जरूरत होती है। यहां तक कि बैंक अकाउंट खुलवाने, स्कूल में बच्चों के लिए एडमिशन करवाने या फिर नए सिम कार्ड के लिए आधार कार्ड की जरूरत पड़ने लगी है। ऐसे में इस की सिक्योरिटी को लेकर चिंता होना स्वाभाविक है और वह भी, तब जब हाल के दिनों में आधार ID का इस्तेमाल कर डाटा लीक के कई मामले सामने आए हैं, लेकिन अब सरकारी और गैर सरकारी कार्यों के लिए आधार का इस्तेमाल करते हैं तो प्राइवेसी की चिंता करने की जरूरत नहीं है।
यूआइडीएआइ वर्चुअल ID जनरेट करने की सुविधा के बाद अपनी पहचान को सत्यापित करने के लिए आधार नंबर की बजाय वर्चुअल ID (बीआइडी) का इस्तेमाल कर पाएंगे इसे यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाकर जनरेट किया जा सकता है।

बीआइडी क्या है?

वीआईडी आस्थाई रूप से जनरेट किया गया 16 डिजिट का एक नंबर है, जो आधार नंबर से लिंक होता है। यह नंबर अस्थाई है और बदलता रहता है। यह आपके आधार के लिए मास्क (मुखोटे) की तरह कार्य करता है, जिससे असली आधार नंबर को छुपाया जा सकता है। जिस तरह किसी व्यक्ति की पहचान को सत्यापित करने के लिए आधार का उपयोग किया जाता है, उसी तरह अब वीआइडी का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके इस्तेमाल से किसी व्यक्ति के आधार नंबर को जानना संभव नहीं हो पाएगा। बीआईडी नंबर देने पर आॅथराइज्ड एजेंसी, जैसे मोबाइल कंपनियों को नाम, पता और फोटो जैसी सीमित जानकारी ही मिलेगी, जो वेरिफिकेशन के लिए पर्याप्त है।

Read More:- लो लाइट फोटोग्राफी कैसे करें

वीआइडी के फायदे

° virtual ID  की मदद से अपने ओरिजिनल आधार नंबर को गुप्त रख पाएंगे।

° आप जिसके साथ भी अपना वर्चुअल ID साझा करेंगे, वह सिर्फ आपका नाम पता और आपकी फोटो को ही उस वर्चुअल ID से देख पाएगा।

• अपनी जरूरत के हिसाब से तय समय सीमा के लिए वर्चुअल ID को जनरेट कर सकेंगे। इसका मतलब यह है कि अगर आप सिर्फ 1 हफ्ते के लिए एक वर्चुअल ID को जनरेट करते हैं और जिसके साथ साझा कर रहे हैं, वह सिर्फ एक हफ्ते तक ही आपके डेटा को एक्सेस कर सकेगा। आठवें दिन वह नंबर कार्य नहीं करेगा।

• आप जब चाहें और जितनी बार चाहे वर्चुअल ID जनरेट कर सकते हैं।

• बी ID का इस्तेमाल वह सभी आधार धारक कर सकते हैं, जिनके मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड है।

• वर्चुअल id की व्यवस्था आने के बाद हर एजेंसी आधार वेरिफिकेशन के काम को आसानी से और पेपरलेस तरीके से कर सकेगी। 

कैसे जनरेट करें बीआइडी

• सबसे पहले यूआईडीएआई वेबसाइट (https://resident.uidai.gov.in/web/resident/vidgeneration ) के होम पेज पर जाएं। यहां आपको आधार सर्विसेज टैब में सबसे नीचे की तरफ वर्चुअल ID (बीआइडी) जनरेटर का ऑप्शन दिखेगा। इस पर क्लिक करें यह प्रक्रिया तभी संभव है, जब आपका मोबाइल नंबर यूआईडीएआई के डेटाबेस पर रजिस्टर हो, क्योंकि रजिस्टर मोबाइल नंबर पर ही वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आता है।

• वर्चुअल ID जनरेटर टैब पर क्लिक करने के बाद आप एक नए पेज पर पहुंच जाएंगे, जहां आपको आधार नंबर और सिक्योरिटी कोड यानी कैप्चा भरने के लिए कहा जाएगा। डिटेल देने के बाद ओटीपी भेजने के लिए ऑप्शन पर क्लिक करें। इसके बाद ओटीपी आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आएगा।

• फिर ओटीपी डालने के बाद बीआइडी जनरेट करने के लिए बने सकि्ल मे क्लिक कर बीआइडी जनरेट कर सकते हैं और यह आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। यहां पर बीआइडी को फिर से प्राप्त करने या रिटि्व का एक विकल्प भी मौजूद है।

कुछ जरूरी बातें


• वीआइडी केवल आधार कार्ड होल्डर ही जनरेट कर सकता है। अभी वीआइडी के लिए एक दिन का समय सेट किया गया है यानी आप हर दिन एक नया वीआइडी जनरेट कर सकते हैं। जैसे ही नया वीआइडी जनरेट करेंगे पुराना एक्टिव वीआइडी एक्सपायर यानी खत्म हो जाएगा। यदि आधार कार्ड होल्डर वीआइडी को भूल जाते हैं, तो इसे फिर से हासिल करने का विकल्प यूआईडीएआई पोर्टल पर मौजूद है। फिलहाल वीआइडी जनरेट करने की सुविधा केवल यूआईडीएआई की वेबसाइट पर ही है।

• वीआइडी तत्कालिक होता है। आधार कार्ड होल्डर इसे बदल सकते हैं इसलिए एजेंसी द्वारा स्टोर किए गए वीआईडी की कोई वैल्यू नहीं रह जाती है।

• अभी वीआइडी के लिए कोई एक्सपायरी पीरियड नहीं किया गया है। जब तक आधार कार्ड होल्डर कोई नया वीआइडी जनरेट नहीं कर लेते तब तक यह वैलिड रहता है।

यूआइयूआई की आॅनलाइन सर्विसेज

युआइडीआइ की वेबसाइट से आप आधार से जुड़ी कई तरह की सेवा का ऑनलाइन फायदा उठा सकते हैं.....

• यहां यूजर आधार एनरोलमेंट और अपडेट सेंटर को ऑनलाइन सर्च कर सकते हैं।

• आधार एप्लीकेंट यहां पर अपने आधार कार्ड के स्टेटस को चेक कर सकते हैं। इसके लिए यूआईडीएआई पोर्टल के होम पेज पर 'चेक आधार स्टेटस' में जाना होगा।

• आधार एनरोलमेंट नंबर या फिर आधार नंबर खो जाने की स्थिति में पोर्टल से फिर हासिल किया जा सकता है।

• अगर आपको अपने एड्रेस में कुछ संशोधन करना है, तो ऑनलाइन इस वेबसाइट के जरिए किया जा सकता है। अगर अपडेट के स्टेटस को चेक करना चाहते हैं, तो फिर 'चेक स्टेटस - अपडेशन डन ऑनलाइन' लिंक पर क्लिक करें।

• यूआईडीएआइ की वेबसाइट से आधार कार्ड को डिजिटल फाॅम में डाउनलोड कर सकते हैं।

• वेरीफाई ईमेल/मोबाइल नंबर लिंक पर जाकर अपने ईमेल एड्रेस और मोबाइल नंबर को वेरीफाई कर सकते हैं। इसके अलावा, आपका अकाउंट बैंक से लिंक है या नहीं यह स्टेटस भी जान सकते हैं।


• आॅथेंटिकेशन के आधार के लिए आधार का इस्तेमाल कहां -कहां हुआ है, उसकी हिस्ट्री इस साइट पर देखी जा सकती है।

• अपनी प्राइवेसी के लिए चिंतित यूजर यहां बायोमेट्रिक लॉक - अनलॉक कर सकते हैं।


आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी कमेंट कर हमे अपना फीडबैक जरूर दें, ताकि हम आपके लिए आगे ऐसी और पोस्ट लाते रहै।

Follow Us

Amazon

Popular Posts